कौन हैं क्रिकेट इतिहास में विश्व का सबसे तेज गेंदबाज?

 

क्रिकेट एक ऐसा खेल जिसे सारे देश-दुनिया में बेहद में बहुत प्यार मिलता हैं, पर यदि बात की जाए हिंदुस्तान की तो यहाँ क्रिकेट सिर्फ एक खेल से कहीं माना जाता हैं। यहाँ लोग क्रिकेट को धर्म और क्रिकेटर्स को भगवान् का दर्जा भी देते हैं। क्रिकेट वैसे तो 11-11 खिलाड़ियों की दो टीमों के बीच खेला जाता है परन्तु भारत में स्टेडियम में मौजूद हर व्यक्ति और घरो में टीवी में मैच देखने वाले सभी लोग खुद को सीधे खेल से जुड़ा हुआ महसूस करते हैं।

दुनिया भर में क्रिकेट निकायों के दर्शकों की बढ़ती मांगों को पूरा करने के लिए नए प्रयोगों के साथ दर्शकों का मनोरंजन करने की पूरी कोशिश करते रहते हैं। लेकिन उन तमाम प्रयोगों में एक चीज स्थिर बनी रहती है, जो कि हैं खेल में गेंदबाजों की भूमिका। तो आज हम उन खिलाड़ियों के बारे में चर्चा करेंगे जिन्हे क्रिकेट के इतिहास में विश्व का सबसे तेज गेंदबाज माना जाता हैं।

क्रिकेट को अक्सर बल्लेबाजों का खेल माना जाता है। शायद ही कुछ मौकों पर, गेंदबाजों को छोटी बाउंड्री और बड़े आकार के बल्ले के बावजूद कुछ मदद मिल पाती है जो बल्लेबाजों के लिए खेल को और आसान बनाते हैं।

हालांकि, इतिहास में कुछ ऐसे तेज गेंदबाज भी आए जिन्होंने अपने हथियार, जैसे गति, स्विंग, और उछाल से अपनी एक अलग पहचान बनाई। हालांकि वर्तमान में अधिकांश बल्लेबाजों के लिए तेज़ गति कोई बड़ी चिंता का विषय नहीं है, लेकिन फिर भी कुछ तेज गेंदबाज अपनी गति और सटीकता की मदद से कई टीमों को चकमा देने में कामयाब रहते हैं।

दुनिया ने कुछ ऐसे तेज गेंदबाज भी देखे हैं जिन्होंने सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों को भी परेशान किया है। तेज गेंदबाजी में महारत हासिल करना एक कठिन काम है और कुछ तेज गेंदबाजों ने 140 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से लगातार गेंदबाजी करने की अपनी क्षमता दुनिया को दिखाई है।

क्रिकेट इतिहास में अब तक के सबसे तेज गेंदबाज

गेंदबाज देश सबसे तेज गेंद वर्ष और विपक्ष
शोएब अख्तर पाकिस्तान 161.3 किमी/घंटा 2003 बनाम इंग्लैंड
शॉन टैट ऑस्ट्रेलिया 161.1 किमी/घंटा 2010 बनाम इंग्लैंड
ब्रेट ली ऑस्ट्रेलिया 160.8 किमी/घंटा 2005 बनाम न्यूजीलैंड
जेफरी थॉमसन ऑस्ट्रेलिया 160.6 किमी/घंटा 1975 बनाम वेस्ट इंडीज
मिचेल स्टार्क ऑस्ट्रेलिया 160.4 किमी/घंटा 2015 बनाम न्यूजीलैंड
एंडी रॉबर्ट्स वेस्ट इंडीज 159.5 किमी/घंटा 1975 बनाम ऑस्ट्रेलिया
फिडेल एडवर्ड्स वेस्ट इंडीज 157.7 किमी/घंटा 2003 बनाम दक्षिण अफ्रीका
मिचेल जॉनसन ऑस्ट्रेलिया 156.8 किमी/घंटा 2013 बनाम इंग्लैंड
मोहम्मद समी पाकिस्तान 156.4 किमी/घंटा 2003 बनाम जिम्बाब्वे
शेन बॉन्ड न्यूजीलैंड 156.4 किमी/घंटा 2003 बनाम भारत

अब विश्व के शीर्ष -10 सबसे तेज गेंदबाजों की सूची पर एक विस्तृत नज़र डालते हैं:

10. शेन बॉन्ड (न्यूजीलैंड) – 156.4 किमी/घंटा

न्यूजीलैंड से तालुक्क रखने वाले शेन बॉन्ड एक तेज, विध्वंसकारी और घातक तेज गेंदबाज थे। बॉन्ड ने अपने संपूर्ण करियर में चोटों के चलते बहुत संघर्ष किया। वर्ल्ड कप 2003 में बॉन्ड ने भारत के खिलाफ अपनी करियर की सबसे तेज गेंद जो कि 156.4 किमी/घंटा रफ्तार की थी फेंकी और अपना नाम सबसे तेज गेंदबाज की सूची में शामिल किया। उन्होंने न्यूजीलैंड के लिए अपने गेंदबाजी करियर में 87 टेस्ट विकेट, 147 एकदिवसीय विकेट और 27 अंतरराष्ट्रीय टी20 विकेट लिए। एक समय पर विश्व का सबसे तेज गेंदबाज कहलाने वाले शेन बॉन्ड वर्तमान में आईपीएल टीम मुंबई इंडियन के बॉलिंग कोच के रूप में कार्यरत हैं।

9. मोहम्मद सामी (पाकिस्तान) – 156.4 किमी/घंटा

मोहम्मद सामी पाकिस्तान के क्रिकेट इतिहास में दूसरे सबसे तेज गेंदबाज हैं। अपनी गति और स्विंग के लिए जाने जाने वाले सामी ने एकदिवसीय मैच के दौरान अनौपचारिक रूप से 164 किमी/घंटा (101.9 मील प्रति घंटे) की गति से सबसे तेज गेंद फेंकी थी। हालांकि, बाद में अधिकारियों ने ने बताया की स्पीड मापने वाले उपकरण में कुछ खराबी थी। सामी ने 2003 की एकदिवसीय श्रृंखला में जिम्बाब्वे के खिलाफ 156.4 किमी / घंटा की रफ्तार से अपनी सबसे तेज गेंद डाली, जिसकी वजह से सामी का नाम आज भी की विश्व का सबसे तेज गेंदबाज की सूची में कायम हैं। सामी ने पाकिस्तान के लिए अपने गेंदबाजी करियर के दौरान कुल 85 टेस्ट विकेट और 121 एकदिवसीय विकेट लिए।

8. मिचेल जॉनसन (ऑस्ट्रेलिया) – 156.8 किमी/घंटा

हाली ही में युसूफ पठान के साथ हुई विवाद के बाद एक बार फिर सुर्खियों में जगह बनाने वाले मिचेल जॉनसन एक समय पर दुनिया के खतरनाक सबसे तेज गेंदबाज से एक हुआ करते थे। अपने करियर के सबसे अच्छे समय में, वह ऑस्ट्रेलिया के लिए एक भरोसेमंद मैच विजेता खिलाड़ी हुआ करते थे। इस बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने 2013 एशेज में एमसीजी में 156.8 किमी/घंटा की रफ्तार से अपनी सबसे तेज गेंद फेंकी थी। मिचेल जॉनसन ने ऑस्ट्रेलिया के लिए अपने क्रिकेट करियर में 313 टेस्ट विकेट और 239 एकदिवसीय विकेट लिए हैं। जॉनसन ने 2013 में 37 विकेट के साथ ऑस्ट्रेलियाई टीम को एशेज में जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। क्वींसलैंड का यह गेंदबाज 2015 में ऑस्ट्रेलिया की विश्व कप विजयी टीम का भी हिस्सा रहा था।

7. फिडेल एडवर्ड्स (वेस्टइंडीज) – 157.7 किमी/घंटा

कुछ दिन पहले ही सम्पन्न हुए लेजेंड्स लीग क्रिकेट में फिडेल एडवर्ड्स 8 मैच में 11 विकेट लेकर टूर्नामेंट के दूसरे सबसे सफल गेंदबाज बने हैं। वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज फिडेल एडवर्ड्स ने 2003 में पदार्पण किया था। पदार्पण के समय, उन्हें विश्व का सबसे तेज गेंदबाज जैसी उपाधि से नवाज़ा गया था। फिडेल एडवर्ड्स ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपनी सबसे तेज गेंद फेंकी थी जो कि 157.7 किमी / घंटा की गति की थी। एडवर्ड्स राउंड-आर्म एक्शन से गेंदबाजी किया करते थे जिसे अक्सर बल्लेबाजों को समझने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता था।

हालांकि, दाएं हाथ के तेज गेंदबाज को अपने करियर के दौरान उच्चत्तम स्तर पर थोड़े काम अवसर मिले। लेकिन उन्होंने वेस्टइंडीज के लिए अपने सक्रिय गेंदबाजी करियर में 165 टेस्ट विकेट और 60 एकदिवसीय विकेट लिए। 39 वर्षीय गेंदबाज को 2021 में श्रीलंका के खिलाफ घरेलू टी20 श्रृंखला के लिए दोबारा टीम में बुलाया भी गया था।

6. एंडी रॉबर्ट्स (वेस्टइंडीज) – 159.5 किमी/घंटा

एंडी रॉबर्ट्स 1970 के दशक के अंत और 80 के दशक की शुरुआत में वेस्ट इंडीज की दिग्गज चौकड़ी का हिस्सा हुआ करते थे। यह वो समय था जब बल्लेबाजों के पास न आधुनिक हेलमेट हुआ करते थे और न ही पैड्स, जिसकी वजह बल्लेबाज एंडी जैसे तेज़ गेंदबाजों के नाम से खौफ खाते थे। एंडी ने 159.5 किमी/घंटा की अपनी सबसे तेज गेंद वर्ष 1975 में पर्थ में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फेंकी थी। जिसके वजह से आज भी एंडी रॉबर्ट्स का नाम सबसे तेज गेंदबाज में शामिल हैं। एंडी रॉबर्ट्स एंटीगुआ के पहले नागरिक थे जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वेस्टइंडीज का प्रतिनिधित्व किया था। साथ ही, वह 1975 और 1979 में वेस्टइंडीज विश्व कप विजेता टीम का हिस्सा भी रहे थे। इस तेज गेंदबाज ने वेस्टइंडीज के लिए अपने करियर के दौरान कुल 202 टेस्ट विकेट और 87 एकदिवसीय विकेट लिए हैं।

5. मिचेल स्टार्क (ऑस्ट्रेलिया) – 160.4 किमी/घंटा

मिचेल स्टार्क का नाम उच्चतम स्तर का क्रिकेट खेलने वाले बाएं हाथ के गेंदबाजों की नामी सूची में शामिल हैं। इस ऑस्ट्रेलियाई पेसर ने 2015 और 2019 में लगातार दो एकदिवसीय विश्व कप में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज बने थे। पर्थ में न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में मिचेल स्टार्क ने 160.4 किमी/घंटा की रफ्तार से अपनी सबसे तेज गेंद फेंकी, और विश्व का सबसे तेज गेंदबाज की फेहरिस्त में नाम दर्ज कराया।

31 साल के इस तेज गेंदबाज ने अब तक अपने करियर में 255 टेस्ट विकेट और 184 वनडे विकेट लिए हैं। हाल ही में फॉर्म में गिरावट के बावजूद, स्टार्क टेस्ट क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख तेज गेंदबाजों में से एक है। साथ ही उन्होंने आगामी टी20 विश्व कप 2022 के लिए भी टीम में अपनी जगह पक्की कर ली है।

4. जेफरी थॉमसन (ऑस्ट्रेलिया) – 160.6 किमी/घंटा

जेफरी थॉमसन अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ समय में किसी भी बल्लेबाज के लिए एक खतरनाक गेंदबाज हुआ थे। उन्होंने एक ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान अधिकांश बल्लेबाजों के लिए बल्लेबाजी को कठिन बना दिया। थॉमसन अपनी तेज गति के साथ-साथ जबरदस्त निरंतरता से विपक्षी बल्लेबाजों के मन में डर पैदा कर देते थे। उन्होंने 1975 में पर्थ में वेस्ट इंडीज के खिलाफ 160.6 किमी/घंटा की गति से अपनी सबसे तेज गेंद फेंकी थी। 1974-75 सीज़न के दौरान जेफरी थॉमसन और डेनिस लिली की जोड़ी सबसे भयानक तेज गेंदबाजी जोड़ी हुआ करती थी। थॉमसन ने अपने करियर में 1972 से 1985 के बीच 200 टेस्ट विकेट और 55 एकदिवसीय विकेट लिए।

3. शॉन टैट (ऑस्ट्रेलिया) – 161.1 किमी/घंटा

अपनी रहस्यमयी गेंदबाजी के लिए मशहूर शॉन टैट को ऑस्ट्रेलियाई टीम में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पर्याप्त मौके नहीं मिले। हालाँकि, टैट 2010 के दशक के दौरान सबसे तेज गेंदबाज में से एक थे। परन्तु शॉन को अपने करियर के दौरान 2004 और 2016 के बीच ऑस्ट्रेलिया के लिए केवल तीन टेस्ट और 35 एकदिवसीय मैच खेलना का अवसर प्राप्त हुआ। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ अपनी सबसे तेज गेंद फेंकी थी जो की 161.1 किमी/घंटा की गति की थी। दाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज ने बाद में अपने करियर में मेलबर्न में एक अंतराष्ट्रीय टी20 मैच में पाकिस्तान के खिलाफ 160 किमी/घंटा की रफ़्तार को को फिर से छुआ था।

वर्तमान में शॉन टैट पाकिस्तान की गेंदबाजी दल का हिस्सा है और टीम के गेंदबाजी कोच के रूप में काम कर रहे हैं।

2. ब्रेट ली (ऑस्ट्रेलिया) – 161.1 किमी/घंटा

ब्रेट ली ऑस्ट्रेलियाई इतिहास के सबसे तेज गेंदबाज और अब तक के विश्व के दूसरे सबसे तेज गेंदबाज हैं। 2000 के दशक में में न्यू साउथ वेल्स का यह खिलाड़ी मुश्किल से हारने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम का एक हिस्सा रहा। अपने करियर के दौरान ब्रेट ली ने ग्लेन मैकग्रा और शेन वार्न जैसे दिग्गज खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम साझा किया हैं। ब्रेट ली की सटीकता के साथ-साथ उनकी गति भी बेहद खतरनाक थी जो कि अधिकांश बल्लेबाजों के लिए परेशानी का सबब बना करती थी। उन्होंने 2005 में नेपियर में न्यूजीलैंड के खिलाफ एक मैच में 161.1 किमी/घंटा की रफ्तार से अपनी सबसे तेज गेंद दाल थी और 160 किमी/घंटा का आंकड़ा पार किया था।

ब्रेट ली 2003 और 2007 में ऑस्ट्रेलिया की विश्व कप विजेता टीम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रहे थे। 2007 के टी 20 विश्व कप में हैट्रिक ली थी, और अंतराष्ट्रीय टी20 मैच में हैट्रिक लेने वाले पहले गेंदबाज बने। लगभग 13 वर्षों के शानदार करियर में, ली ने ऑस्ट्रेलिया के लिए लगभग 700 अंतर्राष्ट्रीय विकेट हासिल किए।

1. शोएब अख्तर (पाकिस्तान) – 161.3 किमी/घंटा

रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर शोएब अख्तर क्रिकेट जगत में अब तक के सबसे तेज गेंदबाज हैं। पाकिस्तान के इस दाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने क्रिकेट विश्व कप 2003 के दौरान अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे तेज गेंद फेंकी थी और सबसे तेज़ गेंदबाज की सूची में शीर्ष पायदान प्राप्त किया था। हमेशा तेज गेंदबाजी करने वाले शोएब अख्तर ने केपटाउन में इंग्लैंड के खिलाफ 161.3 किमी/घंटा की रफ्तार से गेंद डाली थी। आज भी शोएब अख्तर विश्व का सबसे तेज गेंदबाज है और उन्हें आज भी पाकिस्तान में लीग क्रिकेट खेलते देखा जा सकता हैं। क्रिकेट के तमाम सुर्खियां के बीच शोएब की आक्रामक गेंदबाजी और अनोखा एक्शन हमेशा सुर्खियां बटोरता रहा।

शोएब अख्तर ने पाकिस्तान के लिए अपने करियर के दौरान 178 टेस्ट विकेट और 247 एकदिवसीय विकेट लिए। वर्तमान में पाकिस्तान में उनके ढेरों प्रशंसक हैं और उनके क्रिकेट विश्लेषण के लिए उन्हें व्यापक रूप से पसंद किया जाता है।

आधुनिक समय में सबसे तेज गेंदबाज

गेंदबाजों की उपरोक्त सूची इतिहास के विभिन्न चरणों में क्रिकेट जगत में तबाही मचाने में सक्षम गेंदबाजों की थी, वहीँ दूसरी ओर आधुनिक गेंदबाज भी अपनी गेंदबाजी से एक बड़ा प्रभाव डालने में सक्षम है। ये गेंदबाज भले ही ऐतिहासिक दिग्गजों की गति को पार न कर पाए हो, लेकिन वर्तमान समय में वे विश्व का सबसे तेज गेंदबाज बनने के लिए काफी तेज हैं। आधुनिक समय के शीर्ष 10 तेज गेंदबाज हैं:

10. एडम मिल्ने (न्यूजीलैंड) – 153.28 किलोमीटर प्रति घंटे

एडम मिल्ने न्यूजीलैंड के उन गेंदबाजों की सूची में शामिल हैं जो 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से लगातार आसानी से गेंदबाजी करने में सक्षम हैं। एडम मिल्ने का आसान और सहज एक्शन कई तेज गेंदबाजों से काफी अलग है लेकिन वह अपनी स्विंग और गति से खेल पर बड़ा प्रभाव डालने में सक्षम है। शेन बॉन्ड जैसे कई शीर्ष तेज गेंदबाजों को जन्म देने वाले देश से आने वाले एडम मिल्ने ने क्रिकेट जगत में अपना नाम बनाया है। एडम मिल्ने ने वेस्टइंडीज के खिलाफ एक टी20 मैच में गेंदबाजी करते हुए 153.28 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से शानदार प्रदर्शन किया है। ज्यादातर मौकों पर, मिल्ने की औसत गति लगभग 145-150 किमी प्रति घंटे के आस-पास ही होती है और एडम मिल्ने आधुनिक क्रिकेट में सबसे तेज गेंदबाज में एक हैं।

हालांकि, हाल ही के वर्षों में, एडम मिल्ने को कई तरह की शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ा, जिसकी वजह से उनका खेल काफी प्रभावित हुआ हैं। चोटों के चलते, मिल्ने 40 एकदिवसीय मैचों में सिर्फ 41 विकेट ही ले सके हैं।

9. कगिसो रबाडा (दक्षिण अफ्रीका) – 154.23 किलोमीटर प्रति घंटे

कगिसो रबाडा दुनिया के सर्वश्रेष्ठ सबसे तेज गेंदबाज में से एक के रूप में उभरे। वह पिछले कुछ वर्षों से दक्षिण अफ्रीकी टीम के प्रमुख सदस्यों में से एक रहे हैं। रबाडा अपनी गति को काफी हद तक नियंत्रित करने में सक्षम है और यह आईपीएल 2019 के दौरान स्पष्ट रूप से देखा भी गया था। रबाडा आईपीएल में 154.23 किलोमीटर प्रति घंटे की तेज गति से गेंद फेंकने में सक्षम थे, जो कि आईपीएल में फेंकी गयी सबसे तेज गेंद में से एक थी। हालांकि ज्यादातर मौकों पर उनकी औसत स्पीड 145 किलोमीटर प्रति घंटे के आसपास होती है। फिर भी, वह दक्षिण अफ्रीकी लाइन-अप के एक महत्वपूर्ण सदस्य है।

कगिसो रबाडा 2022 में सिर्फ 27 साल की उम्र के हैं, और उन्हें काफी लम्बे समय तक क्रिकेट खेलना हैं। वह 52 टेस्ट मैचों में 243 विकेट लेकर टेस्ट मैचों में काफी प्रभावशाली रहे है। साथ ही क्रिकेट के अन्य प्रारूपों में भी धीरे-धीरे अपनी पकड़ बना रहे है।

8. वहाब रियाज (पाकिस्तान) – 154.5kph

जब बात तेज गेंदबाजी करने की होती है तो वहाब रियाज का नाम जरूर याद आता हैं। फिर भी, वह सूची में शीर्ष पर नहीं है, लेकिन विश्व कप 2015 में रियाज़ ने भारत के खिलाफ 154.5 की रफ़्तार से गेंदबाजी करने का अपना रिकॉर्ड बनाया था। ज्यादातर मौकों पर, रियाज़ 145 किलोमीटर प्रति घंटे की औसत गति से गेंदबाजी करते नज़र आते है। लेकिन वर्ल्ड कप में उनकी गति ने प्रशंसकों को मंत्रमुग्ध कर दिया था। खेल के उनके सबसे यादगार पलों में से एक हैं 2015 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विश्व कप मैच, जब उन्होंने मैच में शेन वॉटसन के खिलाफ प्रभावशाली तरीके से गेंदबाजी की थी। हाल के वर्षों में, वहाब रियाज़ टी20 क्रिकेट के विशेषज्ञ के रूप में उभरे हैं और उन्होंने दुनिया की कई शीर्ष टी20 लीगों जैसे बीबीएल, सीपीएल, पीएसएल आदि में भाग लिया है।

7. जोफ्रा आर्चर (इंग्लैंड) – 154.65 किलोमीटर प्रति घंटे

जोफ्रा आर्चर इंग्लैंड के एक क्रिकेटर हैं जो कि बारबाडोस के रहने वाले हैं और उन्होंने हाल के वर्षों में टी20 और अंतरराष्ट्रीय मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया है। आर्चर 2019 विश्व कप के दौरान प्रमुखता से सामने आए थे जब उन्हें अंतिम मिनट में टीम में शामिल किया गया था। उन्होंने विश्व कप 2019 के दौरान जबरदस्त गेंदबाजी का प्रदर्शन किया था। इसके बाद एशेज में आर्चर ने शानदार शुरुआत की और 154.65 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार गेंबाजी करने में सक्षम रहे – जो कि उनकी अब तक की सबसे तेज गेंद हैं। भले ही आर्चर की यह गति पुराने दिग्गज गेंदबाजों से कोसों दूर है, लेकिन वर्तमान समय में, आर्चर आधुनिक क्रिकेट जगत के विश्व का सबसे तेज गेंदबाज में से एक हैं, जो कि एक बड़ी उपलब्धि है।

6. मोहम्मद हसनैन (पाकिस्तान) – 155.1 किलोमीटर प्रति घंटे

मोहम्मद हसनैन नियमित रूप से 140 किलोमीटर प्रति घंटे से ऊपर की रफ्तार से गेंदबाजी करने की क्षमता रखते हैं। लेकिन 2019 में कैरेबियन प्रीमियर लीग के एक मैच में मोहम्मद हसनैन ने 155.1 किलोमीटर प्रति घंटे की अविश्वसनीय गति से गेंदबाजी की थी। मोहम्मद हसनैन अभी अपने करियर के शुरुआती दिनों में हैं और विश्व का सबसे तेज गेंदबाज बनने से अभी काफी दूर हैं। हसनैन धीरे-धीरे राष्ट्रीय टीम में अपनी एक निश्चित बना रहे है, और काफी प्रशंसा भी हासिल कर रहे है। पाकिस्तान के सिंध के इस 22 वर्षीय खिलाड़ी ने 10 से कम एकदिवसीय मैचों में भाग लिया है, जबकि टी20 मैचों की बात की जाएं तो उनका कद बढ़ रहा है।

5. मार्क वुड (इंग्लैंड) – 156.1 किमी/घंटा

मार्क वुड इंग्लैंड के तेज गेंदबाज हैं जो कि नॉर्थम्बरलैंड के रहने वाले हैं। उनके पास अपनी गेंदों में तेज गति पैदा क्षमता हैं और उनकी उन्ही कद-काठी भी उन्हें उछाल पैदा करने में बड़ी सहायता प्रदान करती है। इंग्लैंड हाल के वर्षों में वुड की गेंदबाजी पर काफी निर्भर रहा है। भले ही मार्क वुड लगातार लगभग 150 किमी प्रति घंटे की औसत रफ़्तार से गेंदबाजी करते है, लेकिन वे जून 2021 में न्यूजीलैंड के खिलाफ 156.1 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करके दुनिया का सबसे तेज गेंदबाज में से एक बनने के कुछ करीब पहुंच गए थे। 2018 से वुड चेन्नई सुपर किंग्स के साथ आईपीएल का हिस्सा रहे हैं। उन्होंने 26 मैचों में 82 विकेट के साथ टेस्ट क्रिकेट में भी उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है।

4. एनरिक नॉर्खिया (आईपीएल – राजस्थान रॉयल्स) – 156.22 किमी/घंटा

एनरिक नॉर्खिया दिल्ली कैपिटल्स के लिए प्रमुख गेंदबाजों में से एक हैं और उन्होंने आईपीएल में अब तक की सबसे तेज गेंदों में से एक को फेंक कर अपनी योग्यता साबित की है। राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 156.22 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करके वे दुनिया के सबसे तेज गेंदबाज में से एक बन गए। इन आंकड़ों ने उन्हें कुछ अन्य नामों के साथ क्रिकेट इतिहास के सबसे तेज गेंदबाज की सूची में पहुंचने में मदद की। एनरिक नॉर्खिया गेंद के साथ काफी चालाक रहे हैं और उनकी तेज गति कई बल्लेबाजों को परेशान करती है। 28 वर्षीय एनरिक नॉर्खिया ने 12 मैचों में 47 विकेट लेकर टेस्ट गेंदबाज के रूप में भी शानदार प्रदर्शन किया है।

3. उमरान मलिक (आईपीएल – हैदराबाद सनराइजर्स) – 157 किलोमीटर प्रति घंटा

उमरान मलिक एक ऐसे तेज गेंदबाज हैं जिन्होंने आईपीएल 2022 में लगातार 150+ किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी की थी। जम्मू और कश्मीर के इस तेज गेंदबाज ने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ मैच में 157 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करके रिकॉर्ड बनाने में कामयाबी हासिल की। दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ आईपीएल में इस गेंद ने भले ही मलिक को क्रिकेट इतिहास का सबसे तेज गेंदबाज न बनाया हो, लेकिन उस गेंद ने उन्हें निश्चित रूप से भारत का सबसे तेज गेंदबाज बना दिया है। उमरान मलिक को भारतीय लाइन-अप में एक स्थाई नाम बनना बाकी है।

हालांकि उन्हें इंग्लैंड और आयरलैंड के खिलाफ श्रृंखला में मौका दिया गया था लेकिन वह श्रृंखला में कुछ प्रभावशाली प्रदर्शन करने में नाकामयाब रहे और मंहगे भी साबित हुए थे। ब्रेट ली और हरभजन सिंह जैसे दिग्गज पूर्व क्रिकेटरों की माने तो उमरान मालिक की भारतीय टी20 वर्ल्ड कप 2022 टीम में जगह बनती थी, परन्तु की चयनकर्ताओं की सोच अलग रही थी।

2. लॉकी फर्ग्यूसन (न्यूजीलैंड) – 157.3 किलोमीटर प्रति घंटे

लॉकी फर्ग्यूसन न्यूजीलैंड के सबसे लोकप्रिय तेज गेंदबाजों में से एक है। एडम मिल्ने की चोट ने फर्ग्यूसन के लिए टीम में एक रास्ता बना दिया, और एक ऐसे गेंदबाज के रूप में पदभार संभाला है जो लगातार 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद डाल सकता है। फर्ग्यूसन न्यूजीलैंड के गेंदबाजी लाइन-अप का एक अहम हिस्सा हैं।

हाल ही में उन्होंने आईपीएल 2022 में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 157.3 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से अपनी सबसे तेज गेंद फेंकी थी। जो आईपीएल इतिहास में अब तक की सबसे तेज गेंद फेंकी गई थी, जिसने उन्हें आईपीएल के इतिहास का सबसे तेज गेंदबाज बना दिया। भले ही फर्ग्यूसन कई चोटों से पीड़ित है, लेकिन वह न्यूजीलैंड के गेंदबाजी लाइन-अप के लिए एक शक्तिशाली अंग है। यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि केवल 44 एकदिवसीय मैचों में 77 विकेट लेने वाले फर्ग्यूसन को न्यूजीलैंड में प्रतिष्ठित नामों में से एक माना जाता है।

1. मिचेल स्टार्क (ऑस्ट्रेलिया) – 160.4 किलोमीटर प्रति घंटे

मिचेल स्टार्क वह गेंदबाज है जिसने मिशेल जॉनसन के बाद ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजी आक्रमण को बागडोर संभालने की क्षमता दिखाई है। 2015 के बाद से, स्टार्क अपनी सटीक लाइन और लेंथ के साथ-साथ घातक गति से बल्लेबाजों को आतंकित करने में सक्षम रहे है। बाएं हाथ का यह तेज गेंदबाज अपनी शक्तिशाली यॉर्कर के लिए भी काफी लोकप्रिय हैं। भले ही मिचेल स्टार्क एक-दो मौकों पर 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार को पार करने में सफल रहे हों, लेकिन जब यह सबसे ज्यादा मायने रखता है तो वह लगातार 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करना पसंद करते हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ पर्थ में एक मैच ने स्टार्क ने 160.4 किमी प्रति घंटे की गति से गेंदबाजी की थी।

जब क्रिकेट इतिहास की सूची में सबसे तेज गेंदबाज की बात आती है तो विश्व कप 2015 में स्टार्क ने अपनी तेज गेंदबाजी के मदद से ऑस्ट्रेलिया को कप तक पहुंचाया था। वर्ल्ड कप 2015 में प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट के खिताब से सम्मानित स्टार्क ऑस्ट्रेलियाई दल में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वालों में से एक रहे। न्यू साउथ वेल्स का यह 32 वर्षीय खिलाड़ी 2022 तक टेस्ट में 287 विकेट और एकदिवसीय मैचों में 195 विकेट लेने में सफल रहा हैं।